Menu

चलान से बचने के लिए गाड़ी के कागज या दस्तावेज की पूरी जानकारी |

गाड़ी के कागज कौन-कौन से होते है | गाड़ी का कागज कैेसे होते है गाड़ी चलान से बचने के लिए आवश्यक दस्तावेज | चालान से बचने के उपाय

गाड़ी के कागज

गाड़ी के कागज कौन-कौन से होते है

दोस्तों  बाईक, स्कूटर या फिर कार चलते समय ट्रैफिक पुलिस के पकड़ने पर वह कौन से ऐसे सात डॉक्यूमेंट है जो कि आपको ट्रैफिक पुलिस कोदिखाना होता है इसी के बारे में आपको आगे लेख में बताने वाला हूं और यह आपको इसलिए भी पता होना चाहिए क्योंकि मैंने देखा कि कई बार बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं, जो ट्रैफिक पुलिस के रोकते ही घबरा से जाते हैं, उन्हें पता नहीं होता कि भाई कौन सा डॉक्यूमेंट दिखाना है कॉल कर नहीं दिखाना और कई बार सही डॉक्यूमेंट होने पर भी उनका चालान कट जाता है

चालान से बचने के उपाय

दोस्तो मुझे लगा कि देखो काफी लंबा समय हो चुका करीब 3 साल पहले मैंने इस टॉपिक पर लेख बनाया था इस दौरान बहुत सारे चेंज हुए तो मुझे लगा कि जो नए पॉइंट्स जो नए डॉक्यूमेंट से उनके साथ भी आपको इसके बारे में फिर से सही और सेटिंग जानकारी दे देना चाहिए तो इसी के बारे में आपको आगे इस लेख में बताने वाला हूं वैसे आपकी गाड़ी किस आरटीओ में रजिस्टर या आप इस लेख में कमेंट जरुर से करें जिससे मेरी गाड़ी जो है वह रांची आरटीओ में रजिस्टर है टॉप कमेंट जरुर से करें चलो शुरुआत करते है।

चालान से बचने के जरुरी गाड़ी कागज या दस्तावेज

दोस्तो  ऐसे चार 4 बेसिक डॉक्यूमेंट होते है जो सभी प्राकार के गाड़ी चलाने वाले के पास जरुर होना चाहिए। उसके बाद हम लोग चलेंगे तीन बाकी के जो एडवांस लेवल के डाक्यूमेंट्स है।

गाड़ी का कागज कैसे होते है कौन से होते है

दोस्तो जो पहला बेसिक दस्तावेज है वो है आपका आरसी RC (REGISTRATION CERTIFICATE) । इस सर्टिफिकेट में आपकी गाड़ी की सारी जानकारी होती है तो ट्रैफिक पुलिस को रोकने पर आपको इसे दिखाना होता है इसके बारे में आपको भी पता होगा और अगर आप आरसी RC शो नहीं करते हो तो गाड़ी के अनुसार आपका 2000 से लेकर ₹5000 तक चलान कट सकता है 

दोस्तो सेकंड बेसिक डॉक्यूमेंट है वह है PUCC  पॉल्यूशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट और मैं आपको यहां पर यह भी बताना चाहूंगा कि अभी के टाइम पर जो bs6 बेस बनी है फेस टू वाली गाड़ियां आ रही है वहां पर भी इन गाड़ियों का भी ट्रैफिक पुलिस को PUCC दिखाना होता है मोस्टली देखा जाता है कि भाई नई गाड़ी है तो 6 महीने के बाद आपको PUCC बना लेना चाहिए वैसे जो bs6 गाड़ी जो पुरानी गाड़ी है bs3 हो bs4 पुरानी गाड़ी है इनका PUCC सर्टिफिकेट कैसे बनता है इसके ऊपर में वेबसाइट पर डिटेल लेख देख सकते है PUCC बनाने में कितने पैसे लगेगा क्या वैलिडेशन होगा यह सब मैं इस लेख आपको बताया है इस लेख को जो लिंक है वह आपको डिस्क्रिप्शन में मिल जाएगा वैसे PUCC अगर नहीं होगा तो गाड़ी का चलान डिपेंड करता है कि आप किस आरटीओ में चला रहे हो आपका ₹1000 से लेकर ₹10000 तक का चालान कर सकते तो PUCC रखना एकदम मैंडेटरी एकदम जरूरी है ठीक है

दोस्तो तीसरा दस्तावेज जो है बहुत जरुरी है वह है गाड़ी का इंश्योरेंस पॉलिसी और खास करके मैं आपको बताना चाहूंगी कम से कम जो नियम में मोटर व्हीकल एक्ट में इसके अकॉर्डिंग आपको आपकी गाड़ी का एट लिस्ट थर्ड पार्टी इंश्योरेंस पॉलिसी रखना एकदम मैंडेटरी है अगर फर्स्ट पार्टियों को तो जाहिर से बात है एक्सीडेंट होता तो आपकी गाड़ी कभी इंश्योरेंस मिल जाएगा लेकिन फिर भी अगर फास्ट पार्टी नहीं अगर आपको महंगा लग रहा तो कम से कम थर्ड पार्टी इंश्योरेंस पॉलिसी होना जरूरी है जो कि आपको ट्रैफिक पुलिस को शोपीस करना होता है और अगर इंश्योरेंस पॉलिसी नहीं होगा तो कम से कम आपका ₹2000 का चालान कट जाएगा ठीक है तो यह तीन डॉक्यूमेंट हो गए उसके बाद

चौथा डॉक्यूमेंट जो ट्राफिक पुलिस टिपिकली सबसे मांगेते है वह है डीएल (DL) यानी की ड्राइविंग लाइसेंस . जी हां यह भी आपको पता है कि यह मैंडेटरी है तो इससे भीदिखाना होता अगर यह शो नहीं करोगे तो क्या होगा ₹5000 का चालान कट जाएगा तो यह चार हो गए बेसिक डॉक्यूमेंट।

अब हम लोग आते एडवांस लेवल के डॉक्यूमेंट के बारे में जानेगें

पांचवा नंबर पर डॉक्यूमेंट है वह यह है की सिचुएशन आप समझ लो कि आप जो गाड़ी को चला रहे हो वह आपका नाम पर रजिस्टर नहीं है आप अपने फादर का सिस्टम का या ब्रदर का इनमें से तीन में से किसी का भी गाड़ी है मदर का भी हो इनमें से किसी का भी गाड़ी अगर आप चला रहे हो और ट्रैफिक पुलिस आपको पड़ती है

तो शुरू के चार डॉक्यूमेंट तो आपको दिखाने हीं है ठीक है गाड़ी का सब कुछ गाड़ी का इंश्योरेंस हो गया PUCC हो गया था आरसी हो गया यह सब आप शो कर देते हो अपना डीएल DL शो कर देते हो लेकिन इसके बाद कई बार यूआईडी (आधार कार्ड) भी दिखाना होता हैइसके बारे में बहुत से लोगों को पता नहीं होता होता ही है कि जब आप यह बता रहे हो कि मैं मेरे फादर की है या ब्रदर की गाड़ी सिस्टर की गाड़ी है मदर की गाड़ी है तो आपको गाड़ी के ऑर्डर के साथ अपना जो रिलेशन है वह भी दिखाना होता और खास करके जब यहां पर एंटी थेफ्ट वगैरा चेकिंग हो रही हो वहां पर यह काम में आता है

होता यह है कि जब आप यूआईडी (आधार कार्ड) दिखते हो तो यूआईडी (आधार कार्ड) में आपका नाम है आपके फादर का नाम है तो फादर के नाम पर गाड़ी है तो वहां पर वह मैच कर जाता है फॉर एग्जांपल आपके भाई की गाड़ी है अपने यूआईडी (आधार कार्ड) अपना दिखाई तो यूआईडी (आधार कार्ड) में आपका नाम आपके फादर का नाम और आपके जो भाई की गाड़ी है उसका भी आपका परिवार आईडी रखोगे तो वहां पर उनका भी फादर का नाम जो कि दोनों के फादर से है तो यहां पर इस तरह से जो रिलेशन है वह भी दिखाना होता तो यूआईटी मैंडेटरी है।

मैं आपको बताना चाहूंगा कई बार ऐसा भी हो जाता है कि नॉर्मल चेकिंग हो रहा है आपका नाम पर ही गाड़ी आप कर डॉक्यूमेंट शो करते होउसके बाद भी ट्रैफिक पुलिस वाले आपसे आपकी यूआईटी बाकी चीजों को मैच करने के लिए मानते हैं तो यूआईडी (आधार कार्ड) इसलिए भी मैंडेटरी हो जाता और यहां पर मैं आपको यह भी बताना चाहूंगा कि अगर आप अपने किसी दोस्त का रिश्तेदार की गाड़ी को चला रहे हो ट्रैफिक पुलिस पकड़ती है आप पहाड़ डॉक्यूमेंट शो करते हो तो यहां पर कई बार यह भी हो जाता है कि आपको अगर दोस्त के रिश्तेदार की गाड़ी है तो आपको जो ओरिजिनल कॉपी है डॉक्यूमेंट का वह दिखाना होता है

अगर आप वहां पर जेरोक्स वगैरह शो करते हो तो हो सकता है कि ट्रैफिक चालान कट जाए हो सकता कि आपको परेशानी हो तो आप इस बात का ख्याल रखें कि दोस्तों अगर गाड़ी अगर लंबे रोड पर निकल गए अपने आरटीओ क्षेत्र से खास करके बाहर जा रहे हो तो फिर वहां पर आप कोशिश करना कि इनका जो ओरिजिनल पांच डॉक्यूमेंट है जरुर रखे इसके साथ अपना आधार या यूआईडी (आधार कार्ड) को भी जरूर से लोग रखते ही है लेकिन जानकारी नहीं होती है आप इस बात का ख्याल रखें ठीक है 

दोस्तो जो अगला छठl डॉक्यूमेंट है वह होने वाला है क्या मैं आपको बताता हूं वह है डिजिटल कॉपी डिजिटल कॉपी कहां रखना है जिसके बारे में जानकारी नहीं होती है और बहुत से लोग भी उसे भी नहीं कर रहे हैं वह है कि गवर्नमेंट का ही दो ऐप है इन डिजिलॉकर और एम परिवहन (m-Parivahan) ऐप इन दोनों ऐप में और स पर रूल में आपको बता रहा हूं रूल पर यह मेंशन है कि भाई आज के टाइम पर आप अपने गाड़ी के सारे डॉक्यूमेंट और यूआईडी (आधार कार्ड) भी होगी या फिर तल्प योग के सारा कुछ सब कुछ टैक्स हो गया फिटनेस हो गया एवरीथिंग आप डिजिलॉकर में और एम परिवहन (m-Parivahan) ऐप में डिजिटल सेव करके रख सकते हो।

ट्रैफिक पुलिस अगर आपको पड़ती है तो आपके पास किसी भी अगर हार्ड कॉपी कुछ का भी नहीं है तो फर्क नहीं पड़ता है स पर रूल आप डिजिलॉकर में या फिर एम परिवहन (m-Parivahan) में अपने गाड़ी के सारे डॉक्यूमेंट जो है वह शो कर सकते हैं

वैसे डिजिलॉकर में एम् परिवहन में डॉक्यूमेंट को कैसे इनस्टॉल वगैरा करना होता है इसके ऊपर विचार डिटेल लेख लिंक आपको डिस्क्रिप्शन में मिल जाएगा और हां बहुत से लोग मुझे कमेंट करके बताते की भाई मैं कोलकाता में रहता हूं मैं यहां रहता हूं वहां रहता हूं हमारे यहां पर जो ट्रैफिक पुलिस है जो डिजिलॉकर या एम परिवार में नहीं मानती है तो देखो क्यों मांगी कैसे मानेगी इसको कर्मचारियों पर डिटेल लेख आप जरूर से देख लेना यहां पर मैंने सारे नियम का जो कॉपी है जो सरकारी कॉपी है वह यहां पर दिया हुआ है तो अब इस लेख को जरूर से देख लेना लिंक आपको डिस्क्रिप्शन में मिल जाएगा।

फाइनली जो साथ में पॉइंट है उसे बताने से पहले मैं आपको यह भी बताना चाहूंगा की बहुत बार बहुत सारी गाड़ियों का ट्रैफिक पुलिस वाले जो टैक्स रिसिप्ट हो गया जो परमिट हो गया जो फिटनेस सर्टिफिकेट हो गया वह भी मांगते हैं तो आपकी गाड़ी के लिए वह वैलिडहै । वह भी दिखाना होता और यह भी आप डिजिलॉकर में एम परिवहन (m-Parivahan) में बहुत आसानी से शो कर सकते ऑफिस बातें ख्याल रखें।

फाइनली जो सातवा आखिरी डॉक्यूमेंट है जो कि अक्सर बहुत से लोग कमेंट करते हैं कि भाई अभी के टाइम पर जेरॉक्स रखें या फिर ओरिजिनल कॉपी रखें इसके बारे में बताना जरूरी है देखो दो अलग-अलग तरह के सिचुएशन होते हैं मैं आपको बताना चाहूंगा कई बार अगर आप अपने जो आरटीओ आपका जगह रजिस्टर है वहां पर आप इस आरटीओ में चला रहे हो ट्रैफिक पुलिस वाले आपको पड़ती है

तो बहुत हद तक चांसेस होता की जेरोक्स से काम चल जाएगा गाड़ी आपका नाम पर है तो जेरोक्स से काम चल जाएगा लेकिन यहां पर मैं एडीशनली यह भी बताना चाहूंगा कि आज पर रूल जो मोटर व्हीकल रूल है वह यह कहता है कि अगर आपको गाड़ी के डॉक्यूमेंट का जेरोक्स रखना ओरिजिनल नहीं रखता है तो फिर आपको क्या करना होगा किआपके आरटीओ का जो गैजेटेड ऑफीसर है उससे आपको वहां पर अटेस्टेड करना होता फोटो कॉपी में यानी कि साइन करना होता है आई एम सर आप समझ रहे हैं की बहुत ज्यादा तामजम होता है लेकिन जो दुनिया में वह मैं आपको बता रहा हूं ताकि आपके साथ कोई परेशानी नहीं हो तो जेरॉक्स में अटेस्टेड होना यानी कि वहां पर साइन वगैरा होना आरटीओ ऑफीसर का जरूरी होता है

फिर भी कई बार जेरोक्स से पुलिस वाले मान जाते हैं लेकिन यह पूरी तरह से ट्रैफिक पुलिस ऑफिसर पर डिपेंड करता हो सकता है कि वह जेरोक्स से नहीं माने और आपसे जो ओरिजिनल कॉपी है वह मांगते और नहीं होने पर आपका चालान कर सकता है तो यह कुछ ऐसे साथ डॉक्यूमेंट है जो की अलग-अलग फॉर्म में है अलग-अलग सिचुएशन में गिफ्ट अगर आप तैयार रखोगे जो कि आप रेडी रखोगे और सही है कोई गाड़ी के डॉक्यूमेंट होंगे तो फिर आप कहीं पर भी चला लो आपकी गाड़ी का चलन नहीं करने का जस्टआपको चाहे डिजिटल भी शो कर दो चाहे हार्ड कॉपी रख लो आप ओरिजिनल रख लो

उसे तरफ शो कर सकते हो लेकिन होता क्या की जो बहुत सारे नए राइडर होते नए ड्राइवर होते हैं उन्हें इसकी जानकारी नहीं होती है नई गाड़ी होने पर स्टार्ट डॉक्यूमेंट सही होने पर भी और ट्रैफिक पुलिस को देखकर थोड़ा यहां पर रास्ते जाते हैं पानी के जाते तो मुझे लगा चलो इसके बारे में आपको डिटेल में बिल्कुल बता देना चाहिए उम्मीद है कि आज किस लेख से आपको इसके बारे में बहुत अच्छी जानकारी मिल गई होगी 

इसे भी पढ़े-

मोहम्मद शमी की जीवनी और क्रिकेट करियर की पूरी जानकारी

अवध ओझा सर जीवनी और कोंचिग की पूरी जानकारी

FAQ

  • मोटरसाइकिल के कागज कौन कौन से होते हैं?
  • गाड़ी चलाने के लिए क्या आवश्यक है?
  • अपनी गाड़ी के कागज कैसे चेक करें?
  • गाड़ी चलाते समय ड्राइवर को कितने दस्तावेज रखने चाहिए?
  • गाड़ी चलाने के पहले क्या करना चाहिए?
  • गाड़ी की उम्र कितनी होनी चाहिए?
  • कार चलाने के लिए कितनी उम्र चाहिए?
  • क्या पुलिस को चालान काटने का अधिकार है?
  • चालानों का रिकॉर्ड रखने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?
  • 1 दिन में कितनी बार चालान हो सकता है?
  • चालान के नियम क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *